पकड़ा गया कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे, एनकाउंटर के खौफ से पहुंचा महाकाल मंदिर

Gangster vikas dubey arrested in mp
कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे (Gangster Vikas Dubey) को उज्जैन के महाकाल मंदिर से (Arrested In Mahakaal Temple) पकड़ा गया है। यूपी पुलिस के एनकाउंटर के खौफ से वह छिपते हुए उज्जैन (MP) के महाकाल मंदिर जा पहुंचा। विकास दुबे पर कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों को घेरकर बेरहमी से हत्या करने का आरोप है।

 
 
 
विकास दुबे उज्जैन के महाकाल मंदिर में दर्शन कने गया था, तभी वहां के सिक्योरिटी गार्ड ने उसे पहचान लिया। जिसके बाद वहां की पुलिस एक्शन में आई और उसे धर दबोचा। कानपुर के बिकरू में हुए शूटआउट के बाद से विकास फरार चल रहा था। विकास पहले दिल्ली-एनसीआर पहुंचा लेकिन पुलिस की बढ़ती सख्ती के बाद वह वहां से भागकर उज्जैन पहुंच गया। जानकारी के अनुसार विकास गुरुवार सुबह करीब आठ बजे महाकाल मंदिर परिसर में गया था। 
 
 
 
 
वहां प्रसाद बेचने वाले दुकानदार को शक हुआ तो उसने मंदिर के सिक्योरिटी गार्ड को बताया।
पूजा करने के बाद जब वह बाहर आया तो सिक्योरिटी गार्ड ने उससे आईडी मांगी। इस पर उसने गार्ड से मारपीट की। विकास को स्थानीय पुलिस थाने ले गए जहां उसने कबूल कर लिया कि वह विकास दुबे है। हालांकि बताया यह भी जा रहा है कि वह मंदिर परिसर में पहुंचा और चिल्लाने लगा कि मैं विकास दुबे हूं। जिसके बाद उसे पकड़ा गया।
 
 
 
 
उज्जैन पुलिस ने यूपी पुलिस को इसकी जानकारी दे दी है। विकास दुबे से पूछताछ कर रही है। विकास की गिरफ्तारी कैसे हुई, इसको लेकर मध्यप्रदेश पुलिस की ओर से काई पुख्ता जानकारी नहीं दी गई है। उधर, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने योगी आदित्यनाथ से फोन पर बात की। शिवराज ने विकास को उत्तरप्रदेश पुलिस को सौंपने की बात कही है।
 
 


गैंगस्टर के दो साथियों का हुआ एनकाउंटर

विकास दुबे के दो साथियों का पुलिस ने गुरुवार सुबह एनकाउंटर कर दिया। कानपुर और इटावा में हुए इन एनकाउंटर में दुबे के सहयोगी प्रभात मिश्रा की मौत हो गई। उसे बुधवार को ही फरीदाबाद से गिरफ्तार किया गया था। पुलिस ट्रांजिट रिमांड पर कानपुर ला रही थी इसी दौरान उसने पुलिस पर हमला कर दिया। जिस पर पुलिस ने फायरिंग की। हो चुका है। पुलिस से भागने की फिराक में दोनों का एनकाउंटर हो गया।
 
 
 

फरीदाबाद से ऐसे पहुंचा उज्जैन

सूत्रों की मानें तो फरीदाबाद से मध्य प्रदेश तक वो आसानी से एक गाड़ी में पहुंचा। ऐसे में सवाल खड़ा होता है कि इतनी बंदिशों के बाद भी विकास दुबे ने आखिर कैसे इतना लंबा सफर किया। बता दें कि विकास दुबे कानपुर की घटना के बाद भाग गया था। जिसके बाद हरियाणा के फरीदाबाद में उसकी झलक दिखी थी। फरीदाबाद के एक होटल के CCTV कैमरे में विकास दुबे को देखा गया था, लेकिन वो वहां से फरार हो गया। छापे में उसके गुर्गे गिरफ्तार कर लिए गए थे। 

 
 

Related posts

Leave a Reply